फैशन.

आदिकाल से सबलोग को ,पसंद है फैशन।
प्रभाव सारे लोग पर, जमाये है फैशन ।।

ढंग से रहना सिखाता, लोग को फैशन ।
तरतीब मानव जिन्दगी का ,बन गया फैशन।।

यह आधुनिक केवल नहीं , प्राचीन है फैशन।
हर काल का पहचान का ,दर्पण है ये फैशन।।

हरेक युग का अपना , पहचान है फैशन ।
एहसास उनके युग का ,करता है ये फशन ।।

आधुनिक दुनियाँ का समझें, प्राण है फैशन।
निष्प्राण ही समझे ,जिसे भाता हीं फैशन ।।

संसकृति का जागता , तकदीर है फैशन ।
अब तो देश के बिकास का,तस्बीर है फैशन।।

गुणवत्ता देखता कोई नहीं, हावी सब पे है फैशन।
बना दिया सब को दीवाना , आज है फैशन ।।

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  बदले )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  बदले )

Connecting to %s