हक अपना सदा लिया कीजिए.

दिलन टूटे किसी का,कभी आपसे,प्रयास हरदम यही कीजिए।

बातें किसी को बुरी न लगे,सदा ध्यान उसपर दिया कीजिए।।

काम मौला का है,वेही करते हैं सब,उनपर भरोसा कर

कर लीजिए।

उनका आदेश भी ,आपके हित में हो,समाॅ आप वैसा बना बना लीजिए।।

कष्ट होने न पाये किसीको आपसे,दिल मेंये बातें बसा

बसा लीजिए।

हक किसी का न कोई छीने कभी,अमल इसपर किया कीजिए।।

हक हो चाहे किसी का,भले आपका ही,खोने न पाये नजर दीजिए।

हक तो रब ने दिया ,देकर भेजा तुझे,हक जो है आपका,ग्रहण कीजिये।।

हक जो है आपका,हक न छोड़ें कभी ।

हक से ज्यादा कभी भी नहीं लीजिए ।।

हक को हासिल मी करना, धरम आप का ।

धरम को करम ही , समझ लीजिए ।।

युक्तिसंगत हो बातें , नीति सै भी भरी हो ।

वही काम हरदम, किया कीजिए ।।

काम करने में बाधक , अगर सामने हो ।

निपटने को तत्पर , रहा कीैजिए ।।

पथ हो सच्चाई का , तो डरें ना कभी भी।

तय है मिलना विजय ही , समझ लीजिए।।

देर भी हो अगर , फिर भी धीरज न खोयें।

दुरूस्त होना है निश्चित , धयाॅ दीजिए ।।

हक न लें गैर का , हक न छोड़ें कभी ।

यह है पावन नियम , मत इसे त्यागिये ।।

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  बदले )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  बदले )

Connecting to %s