तनिक विश्राम कीजिए

आइए रूक कर तनिक, विश्राम कीजिए ।
पग थक चुके होंगे बहुत, आराम कीजिए ।।

जिसने भी दी ये जिन्दगी , पग दो -दो दे दिये ।
जाना है क्यूंकि दूर तक , ये ध्यान दीजिये ।।

थक जायेंगे ज्यादा अगर , आगे नहीं बढ़ पायेगे।
विश्राम कर, तन-मन तनिक, रिचार्ज कीजिए ।।

करना अभी तय आप को, है लम्बा बड़ा सफर ।
दम बीच में टूटे नहीं, ख्याल कीजिए ।।

चलना है जिन्दगी अगर, रुकना ही मौत है ।
विश्राम कुछ पलों का, बस कर ही लीजिए ।।

जाईये चलते चले, जीवन के इस सफर में ।
विश्राम-चिर, अंतिम घड़ी को, मान लीजिए ।।

दुनियाँ में सारे लोग हैं , बस आप की तरह ।
मुसाफिर उन्हें चलता हुआ, ही मान लीजिए ।।

आईए रुक कर तनिक, विश्राम कीजिए ।
पग थक चुके होगेंं बहुत, आराम कीजिए ।।

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  बदले )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  बदले )

Connecting to %s